All About the Lens

एक नज़र

Picture by Wajiha Haider

क्या ताक रही हैं तू इधर, ऐ ज़िंदगी;
क्या अपने गुरूर को इज़ाफा देने के लिए नज़र गड़ाई हैं
या मुझे दी गई नेमत पर तुझे लालच आई हैं?